Saturday, July 13, 2024
Blog Page 3

पोस्ट ऑफिस की नई स्कीम में करें निवेश, बिना रिस्क के मिलेंगे 16 लाख रुपये | Post Office Deposit Scheme

0
Post Office Bachat Yojna

सभी लोग अपने पैसे को सुरक्षित जगह निवेष और डिपॉजिट करना चाहते  है , ताकि उसे अच्छा व्याज व्याज दर रिटर्न मिले | अगर आप ऐसी जगह अपना पैसा निवेष करना चाहते हो , जहा सुरक्षित हो तो आप डाक (Post Office) कहते में निवेष कर सकते हो | जो भारत सरकार की सुरक्षित योजना है |

अन्य निवेष की तुलना में पोस्ट ऑफिस निवेष योजना सबसे अच्छा विकल्प है और रिटर्न भी अधिक है | विशेष रूप से यदि आप अन्य कंपनीओ में जोखिम नहीं लेना चाहते है तो आप भारत सरकार की पोस्ट ऑफिस बचत योजना में पैसा निवेष कर सकते है |

पोस्ट ऑफिस आरडी में निवेष कैसे करे ?

पोस्ट ऑफिस आरडी जमा खाता में व्याज दरो के साथ पैसा निवेष करने के लिए सरकार की गेरंटी योजना है | जिसमे आप हर महीने केवल 100 रु , की छोटी राशि से अधिकतम राशि से निवेष शुरू कर शकते है | आप इसमें 100 रु से ज्यादा कितना भी पैसा निवेष कर सकते है |

यह योजना के लिए 5 साल के लिए खाता खोला जाता है , जब कि बैंक 6 मास , 1 साल , 2 साल , 3 साल के लिए डिपोसिट रेकरिंग अकाउंट की ऑफर करते है | जिसमे जमा की गई राशि की व्याज की गणना हर तिमाही ( वार्षिक ) की जाती है | और उन सभी तिमाहियो के अंत में पैसा चक्रवती व्याज दर के साथ कहते में जमा किया जाता है |

जानिए आपको कितना ब्याज मिलेगा

विशेष रूप से पोस्ट ऑफिस जमा योजनामे 5.8% ब्याज दर 1 अप्रेल 2020 से लागु किया गया है | भारत सरकार हर तिमाही योजना पर ब्याज दर तय करती है |
मानिये आप हर महीने 10.000 रु 10 साल के लिए निवेष करते है ,  तो 10 साल के बाद 5.8% ब्याज दर के हिसाब से आपको 16 लाख से भी ज्यादा पैसा मिलेगा |

प्रति माह निवेश = 10.000 रु
ब्याज = 5.8%
परिपक्वता सिमा = 10 वर्ष तक
तो 10 साल बाद मैच्योरिटी राशि = रु. 16,28,963

आरडी खाते के बारे में योग्य जानकारी 

योजना के हिसाब से आपको नियमित रूप से कहते में पैसा जमा करना होगा | अगर अपने नियमित पैसा जमा नहीं किया तो प्रति मास के हिसाब से 1% जुर्माना भरना पड़ेगा | और आपने 4 महीने तक पैसा नहीं जमा किया तो आपका खाता बंध किया जा शकता है |

टीडीएस TDS छूट का दावा कैसे करे

सरकार के नियम अनुशार जमा राशि के निवेष पर TDS काटा जाता है , यदि जमा राशि की रकम 40.000 हजार से ज्यादा है | तो प्रति वर्ष 10% के हिसाब से सरकार के द्वारा कर (TEX) वसूल किया जाता है | जबकि आरडी पर मिला ब्याज करपात्र है | लेकिन रोकान निवेष परिपक्वता की पूरी राशि पर कोई कर (TEX) लगता नहीं है | लेकिन उसके लिए फॉर्म 15G फ़ाइल भर के TDS छूट का दवा करना पड़ता है | जैसे की FD के मामले मे किया जाता है |

बतादे की पोस्ट ऑफिस निवेष के आलावा सरकारी और प्राइवेट बैंक भी रेकरिंग डिपॉज़िट जमा होती है |

 

भारत की पहली महिला शिक्षक सावित्रीबाई फुले | India’s first female Teacher Savitribai Phule

0
भारत की पहली महिला शिक्षक सावित्रीबाई फुले

भारत की पहेली महिला शिक्षक सावित्रीबाई फुले ने महिलाओ को शिक्षित करने भारत में खोले थे 18 महिला स्कूल |

सन 1831 के दिन भारत की पहेली महिला शिक्षक सावित्रीबाई फुले का जन्म महाराष्ट्र में सतारा के नायगाव में एक किसान परिवार में हुआ था | 1840 में नौ साल की उम्र में 13 साल के लड़के ज्योतिराव फुले के साथ हुवा |  उन्होंने समाज में चल रहा बल विवाह और सती प्रथा जैसे कू-रिवाज के खिलाफ आवाज़ उठाई | और अपने पति ज्योतिराव फुले के साथ मिलकर महिलाओ को शिक्षित करने पर जोर दिया |

हालाकि उस वक्त सख्त नियम वाले समाज में सावित्रीबाई का उग्र विरोध हुवा , और कही कठिनाईओ का सामना किया | फिर भी दोनों पति पत्नीने पीछे हठ नहीं करते हुऐ पहेली महिला स्कूल सन 1848 में महाराष्ट्र के पुणे में खोली थी , उसके बाद पुरे भारत में महिलाओ के लिए कुल 18 स्कूल खोली गए |

सावित्रीबाई ने सिर्फ महिलाओ के लिये ही काम नहीं किया , लेकिन समाज में चल रहे जाती प्रथा , सती प्रथा , बाल विवाह और महिलाओ को शिक्षित करने पर अपनी आवाज़ उठाई | उन्हों ने महिला प्रेग्नेंट की दमनीय स्थिति को देखते हुऐ महिला पीड़ितों के लिए “बालहत्या प्रतिबंधक गृह” नाम से एक देख भाल केंद्र खोला | सावित्रीबाई ने नाइओ के खिलाफ हड़ताली आंदोलन किया ताकि विधवा स्त्रीओ का मुंडन न कर शके | और अंतरजाति विवाह पर बढ़ावा दिया , और ” सत्यशोधक समाज” की स्थापना की , जो बिना पुजारी और दहेज़ विवाह का आयोजन करता था |

सावित्रीबाई ने बच्चो को स्कूल भेजने का एक अभियान उठाया और वे खुद ही बच्चो को स्कूल आने पर एक तोफा देती थी | उनकी पूरी जिंदगी उन्होंने इसी संघर्ष पर ही बिताया | भारत सरकार ने 1998 में सावित्रीबाई की डाक टिकट जारी की , जो आज भी डाक टिकट पर सावित्रीबाई की तस्वीर दिखती है |

जब 1897 में पुणे में फ्लैग रोग फैला था , फ्लेग की महामारी की वजह से 66 साल की उम्र में सावित्रीबाई  फुले का पुणे में देहांत हो गया |

फ़ुटबाल खिलाड़ि की ऐतिहासिक कहानी | Internal Motivation Story

0
Football Motivation Story

एक लड़का फुटबॉल खेल की प्रेक्टिस मैच में प्रेक्टिस करने रोज आता था , जब वह प्रेक्टिस करने आता था तो उसके पिताजी मैदान के किनारे बैठकर उसका इंतजार करते थे |

लेकिन असल खेल शुरू होने से पहले लड़का 4 दिन तक मैच में प्रेक्टिस करने नहीं आया | जबकि क्वाटर फाइनल , सेमि फ़ाइनल मैच में भी नहीं आ पाया | और फाइनल मैच के दिन आया और कोच के पास जाकर कहने लगा की मुझे फाइनल में खेलनेका मौका दीजिये |

कोच ने कहा बेटा मुझे दुःख है की में तुजे खेलने नहीं दूंगा , क्युकी आज फाइनल मैच है और टीम में तुमसे अच्छे खिलाडी मौजूद है | इस लिए में तुम्हे खेलनेकी इजाजत नहीं दूंगा | में स्कूल की इज्जत दाव पर नहीं लगाना चाहता |

लड़के ने फिर गिड़गिड़ाते हुवे कहा सर मुझे एक मौका दीजिये , में आपको वादा करता हु की में आपका विश्वास नहीं टूटने दूंगा , कृपया आप मुझे खेलने दीजिये | कोच ने इससे पहले लड़के को कभी गिड़गिड़ाते हुए नहीं देखा |

कोच ने कहा ठीक है बेटा , लेकिन याद रखना मेने ये निर्णय , अनपे फैसले के खिलाफ लिया है  , तेरी बिनति से में स्कूल की इज्जत दाव पर लगा रहा हु | ऐसा करना की मुझे शर्मिंदा ना होना पड़े , मेरी और स्कूल की इज्जत बच जाये |

फाइनल मैच का खेल शुरू हुआ और लड़केने एक तूफान की तरह खेल खेलना शुरू किया | उसके पास जब भी गेंद आयी तब तब उन्होंने गोल लगाया | और उस फ़ाइनल मैच का वो हीरो बन गया और फ़ाइनल मैच जित ली |

खेल ख़त्म होने के बाद कोच उस खिलाडी के पास गया और लडके से पूछा , की बेटा में इतना गलत कैसे हो शकता हु ? की मैंने तुम्हे ऐसे खेलते हुए पहले कभी नहीं देखा | ये कैसा चमत्कार है बेटा ? | तुम इतना अच्छा कैसे खेल गये ?

” लड़के ने जवाब दिया ” सर आज की मैच मेरे पिताजी देख रहे थे | कोच ने मूड कर उस जगह पर देखा जिस जगह पर पहले उसके पिताजी बैठा करते थे , लेकिन आज उस जगह पर कोई नहीं बैठा था | कोच ने लड़के से पूछा की आज तो तुम्हारे पिताजी कही नहीं दिख रहे है |

” लड़केने जवाब दिया ” सर आज तक मेने आपको यर नहीं बताया की मेरे पिताजी अंधे थे | लेकिन चार दिन पहले ही उसकी मृत्यु हुई | मृत्यु के बाद आज पहेली बार मेरे पिताजी आसमान से मेरी मैच देख रहे थे | ” कोच की आँखों में पानी आ गया और रोने लगे ”

बोध : दुनिया में किसी भी मनुस्य को छोटा नहीं समझना चाहिए |

Nasa ने Alien से संपर्क करने सौंपा , 24 धर्मशास्त्री को महत्वका मिशन

0
alien nasa research

NASA : दुनिया की सबसे बड़ी अंतरिक्ष कंपनी नासा ने मिशन एलियंस का गुप्त रहस्य ढूँढ़ने की पूरी तरह से तैयारी कर ली है | और इस मिशन एलियंस को ढूँढ़ने मे नासा ने भारत के धर्म-गुरु , पादरी और पुजारी की मदद ली है |

इस एलियन से संपर्क करने के लिए नासा ने कही साल रिचर्स करके इस मिशन को कामयाब करने की तैयारी करली है | और नासा ने भारत के धार्मिक पुस्तक रिचर्स करके , 24 आध्यात्मिक धर्म शास्त्रीओ को ये मिशने एलियन का महत्वपूर्ण काम सौंपा है |

अमेरिका के स्थानिक मिडिया के अहेवाल से नासा ने 24 धर्म शास्त्रीओ की मदद से ये जानने का प्रयास करेगी , की दुनिया में संप्रदाय , धर्म और अलग – अलग मनुस्य के रीती रिवाजी से एलियंस के लिए क्या प्रतिक्रिया है , और उनसे क्या उम्मीद रखते है | इससे नासा का मानना है की यदि एलियन से संपर्क होता है तो उनके साथ बात करने की पूरी तैयारी होनी चाहिए |

इसमें भारत के धर्म शास्त्री के साथ ब्रिटिश के बड़े पादरी डॉ एंड्यू डेविसन का नाम भी शामिल किया गया है | जिन्हो ने बाओ – केमेस्ट्री की डिग्री के साथ भगवान् की नेचर प्राकृतिक , धर्म , शास्त्र और धार्मिक ग्रंथो पर रिचर्स करके भगवान् पर विश्वास का अभ्यास करते है |

Dr डेविसन का भी मानना है की , पृथ्वी से बाहर कही प्रकार के जीव रहते है , जिसका संपर्क करने के लिए संसोधन की तीव्र इच्छा होती है | और ये आम आदमी के लिए समज के बाहर है | जब की आकाशगंगा में 100 अजब से बी ज्यादा तारामंडल , 9 ग्रह और इस ब्रह्मांड में 100 अजब से भी ज्यादा अनगिनत आकाशमण्डल है | इस लिए पृथ्वी के सिवा भी इस ब्रह्माण्ड में ग्रहो और अंतरिक्ष के अलग-अलग तारामंडल और इस अकासगंगा में जीवन होने की शक्यता है |

भारत के कही धर्म ग्रंथो और शास्त्रों में भी इनका वर्णन किया गया है | और भारत के कही ऋषि-मुनि और तपस्वीओ ने अपने आध्यात्मिक शक्तिओ से इस ब्रह्माण्ड में रहे कही ऐसे जीवो के साथ संपर्क किया है | और इसका अनुभव किया है |

लेकिन ये बात भी सही है की जहा बुद्धि की सरम सीमा आ जाती है , वहा से आध्यात्मिक शक्ति का उदय होता है | और आज के आधुनिक यंत्र युग में मनुस्य को इन शक्तिओ के बारे में कब विश्वास होगा ये आने वाला समय ही बताएगा |

 

Elon Musk की Tesla Electric Car , Rocket , Nasa Space तक की सफर

0
elon musk

Elon Musk : पूरी दुनिया में सबसे धनिक माने जाने वाले एलन मस्क के पास अपना खुद का घर रेहने के लिए नहीं है | दुनिया में कही ऐसे आदमी है जो एक ऐतिहासिक सिद्धिया प्राप्त करते है | उन मे से एलन मस्क एक ऐसे आदमी है जिन्हो ने अपनी सिद्धिया प्राप्त करने के लिए अपनी पूरी संपत्ति और यहाँ तक की घर भी बेच डाला | और अपनी सिद्धिया प्राप्त करने मे सफल रहे |

आज वो दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार (Tesla) कंपनी के मालिक है | जिस कार को चलाने के लिए नातो कोई ईंधन , गैस और यहाँ तक की कोई ड्राइवर की भी जरुरत नहीं रहती है | उसकी टेस्ला कंपनी की कार ऑटो मोड़ पर बिना ड्राइवर चलती है |

उसकी कार कंपनी के साथ कही बड़ी कंपनी के मालिक है , जैसे रोबोट , सोलार , स्पेस , क्रिप्टोकरेंसी ,क्येमेन्ट और नाशा यान कंपनी के साथ मिलकर अपने खुद के यान और उपग्रह अवकाश में भेजते है| और उसकी कुल संपत्ति 244 अबज डॉलर से भी ज्यादा है |

1971 में साऊथ अफ्रीका में जन्मे एलन मस्क ने 1995 में अपने भाई के साथ मिलकर JIP-2 कॉर्पोरेशन नाम की कंपनी की स्थापना की ,और कही बार असफल रहते आर्थिक कठनाईओ का सामना करना पड़ा |और यहाँ तक की अपना खुद का घर भी बेचना पड़ा | और आज 2021 में एलन मस्क बड़ी बड़ी 8 कंपनी के मालिक है | और उनकी ऊंगलीके इशारो पे पूरी दुनिया के शेयर मार्किट अप-डाउन होते है |

एल्म मस्क का बड़ा सपना स्पेस सटल और रॉकेट अवकाश में भेजना था , उन्हों ने अपना पहला रॉकेट फाल्कन 2008 में अवकाश में भेजा था , जो ऑर्बिट एरिया में पहोचते पहोचते 3 बार असफल रहा | और उसके बाद कंपनीने ने 2009 में फाल्कन-9 बनाया , जिसमे 9 एंजिन के 3 कलस्टर बनाये थे | और उसके बाद कही वर्ष तक आर्थिक कठिनाईओ का सामना करते करते दुनिया की सबसे बड़ी स्पेस और रॉकेट कंपनी नाशा के साथ मिलकर अपने सेटेलाइट , रॉकेट बनाये |

और एलन मस्क का नया सपना मंगल यान है और आने वाले समय में पृथ्वी से मंगल ग्रह पर लोगो को भेज सकेंगे | जो उनका सपना कुछ ही साल में पूरा होने वाला है |

 

 

 

LIC लाया Dhan Rekha Plan, कम रिस्क-ज्यादा फायदा, जानिए इस स्कीम की खास बातें

2
LIC New policy

LIC की नयी पालिसी Dhan Rekha Policy  नॉन लीक्ड और गैर प्रतिभागी होगी , जो आपको 125% तक रिटन मनी ( money) देगी | और इसमें दो प्रेमेंट कंडीशन दी गयी है , सिंगल और सिमित प्रीमियम कंडीशन उपलब्ध है |

भारतीय जीवन वीमा निगम LIC 2022 में एक नयी योजना लेकर आयी है | जो आपको 125% फीसदी तक रिटन पैसा दे सकती है | क्युकी ये पालिसी शेयर मार्केट में न जुड़ने के कारन इसमें बहोत कम रिस्क है |

नयी LIC Policy से जुडी बाते !

नए साल 2022 की LIC Policy में महिलाओ के लिए स्पेशल प्रीमियम दर और थर्ड जेंडर प्रावधान रखा गया है| “धन रेखा” नयी पॉलिसी प्लान में राशि का एक हिस्सा गैप में ” सर्वाइवल “लाभ के रूप में दिया जाएगा | यह पॉलिसी मैच्योर हो जाने पर पॉलिसीधारक को पहले मिल चुकी राशि की कटौती किए बगैर पूरी”बीमित” राशि दी जाएगी | और इस पालिसी की अधिकतम राशि 2 लाख रुपये तक रखी जा सकती है | नयी पालिसी सर्तो के मुताबिक 90 दिक् के बच्चे से लेकर 8 साल के बच्चे तक लिया जा सकता है | जो पुरानी LIC policy में ये सुविधा उपलब्ध नहीं थी | और 35 साल से 55 साल तक नयी पालिसी में ये प्लान लिया जा सकता है , जबकि इस पॉलिसी में अधिकतम राशि की कोई सिमा नहीं रखी गयी है |

इन तीन टर्म में लॉन्च हुई है पॉलिसी

LIC पालिसी ने टर्म 20,30 और 40 साल के टर्म पे लॉन्च किया है | और आप तीनो पालिसी में अलग अलग प्लान चुन सकते है , मान लीजिए की आप 20 साल की टर्म वाला प्लान चुने तो आपको 10 साल तक प्रीमियम देना होगा | उसी तरह अगर आप 30 साल साल का प्लान लेते है तो 15 साल तक प्रीमियम देना होगा | इसके अलावा आप ” धन रेखा ” प्लान के तहत सिंगल प्रीमियम भी निवेश कर पाएंगे.

मैच्‍योरिटी व मृत्यु लाभ

अगर पॉलिसी धारक की पॉलिसी के बिच मृत्यु हो जाती है तो विमा धन राशि का 125% बोनस के साथ उसके नॉमिनी के ये धन राशि देनेका प्रावधान है | और वही पालिसी मेच्योरिटी होने पर पालिसी होल्डर को 100% मनी बैंक दिया जाता है | और मनी बैंक को 100% की मेच्योरिटी में एड नहीं किया जाता है

 

137 साल से टेस्ट मैच का ये रिकॉर्ड आज तक कोई तोड़ नहीं पाया | Test Cricket Record

0
Walter Read cricketer

Cricket : क्रिकेट की दुनिया में कही ऐसे रिकॉर्ड है जो उसे तोडना मुश्किल है | क्रिकेट खेल में ऐसा भी होता है , किसी भी वक्त नया रिकॉर्ड बन जाता है | उनमे से टेस्ट मैच का एक रिकॉर्ड ऐसा है की 137 साल के बाद भी उसे कोई तोड़ नहीं सकता |

टीम का स्कोर आगे बढ़ाने के लिए टॉप आर्डर , मिडल आर्डर बेस्टमैन के कंधे पर होता है | लेकिन लौ आर्डर के बेस्टमैन क्रीज़ पर आकर कुछ नया रिकॉर्ड बनाये तो जरूर आश्चर्य की बात है | आज से 137 साल पहले कुछ ऐसा ही हुआ था  |

1884 में खेली गई इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड के खिलाडी वॉल्टर रीड ने 10 वे नम्बर पर बल्लेबाजी करके 117 रन बनाये थे | और 10 वे नम्बर पर सबसे ज्यादा रन बनाने का रेकॉर्ड अपने नाम कर लिया |

ऑस्ट्रेलिया ने पहेली पारी में 551 रन का स्कोर किया | बाद में इंग्लैंड ने अपनी प्रथम पारी में 195 रन बनाकर 9 विकेट खो दिए | लेकिन वॉल्टर रीड ने 10 वे नम्बर पर बल्लेबाजी करते हुवे 117 बनके 151 रन की पार्टनरशिप की जो टेस्ट  क्रिकेट में ये रिकॉर्ड है | वॉल्टर रीड ने कुल 18 टेस्ट मैच खेली है , उसमे ज्यादातर इन्होने चौथे , पाचवे और छठे नम्बर बल्लेबाजी की है | लेकिन अपनी रणनीति मे कप्तान लॉर्ड हेरिश ने उसे 10 वे स्थान पर भेजने का निर्णय किया और वे सफल रहे |

वॉल्टर रीड ने अपनी कारकीदी में 1 ही सतक लगाया और वो भी ऑस्ट्रेलिया खिलाफ | जिसमे उन्हों ने 155 खेलकर 20 चौगे लगाए और विलियम्स कॉटन के साथ 151 रन की साझेदारी की , जो आज तक की सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड उनके नाम है |

इनके अलावा भी कही 10 नम्बर पर आये खिलाडी ने ज्यादातर रन किये है लेकिन इनके स्कोर तक पहोच नहीं सके |

टेस्ट क्रिकेट 10 वे अंक पर बनाये रन के सर्वोच्च स्कोर

वॉल्टर रीड ( इंग्लैंड ) – ऑस्ट्रेलिया 117 रन (1884)

अबुल हसन ( बांग्लादेश ) – वेस्ट इन्डिस 113 रन (2012)

पेट सिमकॉक्स ( दक्षिण अफ्रीका ) – पाकिस्तान 108 रन (1998)

रेगी डफ ( ऑस्ट्रेलिया ) – इंग्लैंड 104 रन (1902)

Arunita Kanjilal – Indian Idol Top – Biography

0
arunika-kanjilala-indian-idol
the top singer is arunika kanjilal indian idol best performence

अरुणिता कांजीलाल एक भारतीय गायिका है। वह कई रियलिटी शो में नज़र आ चुकी हैं और 2013 में ज़ी बांग्ला के टीवी शो SA RE GA MA PA लिटल चैंप्स की विजेता थी।

Biography
अरुणिता कांजीलाल का जन्म 2003 में कोलकाता, पश्चिम बंगाल में हुआ था। उन्होंने सेंट जेवियर्स स्कूल, कोलकाता से अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की। अरुणिता ने चार साल की उम्र से शास्त्रीय प्रशिक्षण शुरू किया था। उनके प्रारंभिक गुरु उनके मामा थे और बाद में पुणे के रवींद्र गांगुली से आगे का प्रशिक्षण प्राप्त किया।

अरुणिता 2013 में ज़ी बांग्ला शो, SA RE GA MA PA लिटल चैंप्स में एक प्रतियोगी के रूप में हिस्सा लिया और शो विजेता हुईं। अगले वर्ष, 2014 में, उन्हें ज़ी टीवी पर प्रसारित होने वाले SA RE GA MA PA लिटल चैंप्स में राष्ट्रीय रियलिटी शो में हिस्सा लिया था। उन्हें महागुरु और अलका याग्निक ने बहुत सराहा। अरुणिता मोनाली ठाकुर की मेंटरशिप के तहत शीर्ष 5 प्रतियोगियों में से एक बन गईं और उन्होंने “मंच का गुरूर” का खिताब जीता।

Some Facts About Arunita Kanjilal

  • अरुणिता कांजीलाल का जन्म और परवरिश कोलकाता, पश्चिम बंगाल में हुई।
  • वह कुमार सानू , उदित नारायण और हरिहरन की एक डाई-हार्ड फैन है |
  • उन्होंने सुपरस्टार शान मुखर्जी और उनके सह-प्रतियोगी गगन गोनकर के साथ विदेश में प्रदर्शन किया है।
  • अरुणिता को ग़ज़ल और कव्वालियाँ करने में गहरी दिलचस्पी है।
  • अरुणिता हारमोनियम और तानपुरा की बजाने ने भी माहिर है।
  • 2020 में, उन्होंने सोनी टीवी के इंडियन आइडल सीजन 13 में हिमेश रेशमिया, विशाल ददलानी और नेहा कक्कर के नेतृत्व मे भाग लिया।
  • उसके पास एक YouTube चैनल भी है जहाँ वह अपने प्रशंसकों के लिए हिंदी और बंगाली भाषा में गानों के सुंदर कवर सॉन्ग गाकर व्यवहार करती है।
Youtube Video

Biography

Real Name : Arunita Kanjilal 
Nickname : Aru 
Profession : Singer 
Date of Birth : 2003 
Age : 18 Years 
Birth Place : Kolkata, West Bengal 
Nationality :Indian 
Home Town :Kolkata, West Bengal 
Family :
Mother : Not Update
Father : Not Update
Sister : Not Update
Brother : Not Update
 
Religion : Hinduism 
School : St. Xavier’s School, Kolkata 
Educational Qualification : Pursuing Schooling 
Awards : Sa Re Ga Ma Pa Lil Champs (2013) 
Height : 5′ 2″ Feet 
Weight : 47 Kg